motivation/lord krisna quotes in hindi/bhagavad gita सफल जीवन का रहस्य

जय श्री कृष्णा …..आज की इस भागदौड भरी जिंदगी में हम कितनी उलझन में फसे रहते हे हमें कोई सहारा नही मिल पता लेकिन एक बात हमेशा ध्यान रखे भगवान् हमेशा हमारे साथ रहते है  दोस्तों  हमें अगर मोटीवेट होना हे या प्रेरणा  लेना या कुछ भी जानना हे तो हमें श्री कृष्ण के पास ही आना चाहिए।  क्योकि वह ही है जगत गुरु ” कृष्णम  बन्दे जगत गुरुम “……… 
भगवान श्री कृष्ण  ने कहा है। .. 

 हमें किसी भी कार्य को पूरी ईमानदारी से करना चाहिए और निष्काम होके करना चाहिए ,मतलब बिना फल की चिंता करे कार्य को करे।

मनुष्य का हमेशा संदेह करना या शक करना गलत है, क्योकि शक करने  वाला व्यक्ति कभी खुश नहीं रह सकता 

 इन्द्रियों में नियंत्रण होना अत्यधिक आवश्यक है ,क्योकि  अनियंत्रित मन बहुत दुखदाई होता है। जीवन में एकाग्रता का होना परम आवश्यक है। 

 जीवन में आत्मविश्वास का होना बहुत आवश्यक है। आत्मविस्वास की कमी के कारण बनते हुए कार्य  भी बिगड़ जाते है। और विस्वास में बो ताकत है  नामुमकिन कार्य भी मुमकिन हो जाते है।

  जीवन जीने आय है तो संघर्ष तो करना पड़ेगा, संघर्ष के बिना जीवन कहा।  इस जीवन में हारता वही है जो संघर्ष नहीं  कर पता कोई भी लक्ष्य मनुष्य के साहस से बड़ा नहीं होता 

श्रीकृष्ण उपदेश देते हैं कि क्रोध से भ्रम पैदा होता है, भ्रम से बुद्धि भ्रष्ट होती है, जब बुद्धि भ्रष्ट होती है तो तर्क नष्ट हो जाते हैं और जब तर्क नष्ट हो जाते हैं तो व्यक्ति का पतन शुरू हो जाता है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को अपने क्रोध पर जीवनपर्यत नियंत्रण रखना चाहिए। धर्म की राह में चाहे कितनी भी मुसीबतें आएं, उनका मुकाबला इस विश्वास के साथ करना चाहिए कि जीत अंत में धर्म की ही होती है। 

 मनुष्य अपने विश्वास से निर्मित होता है। जैसा वो विश्वास करता है, वैसा वो बन जाता है। …व्यक्ति जो चाहे बन सकता है यदि वह विश्वास के साथ इच्छित वस्तु पर लगातार चिंतन करे। …हर व्यक्ति का विश्वास उसकी प्रकृति के अनुसार होता है। विश्‍वास की शक्ति को पहचानें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *