interstitium / मानव शरीर में एक नय अंग ( की खोज हुई

0
104

मानव शरीर में एक नय अंग इंटरस्टीटियम (interstitium )की खोज हुई 
वैज्ञानिको ने मानव शरीर में एक नय अंग interstitium (इंटरस्टीटियम) की खोज की है वैज्ञानिको को उम्मीद है  की इस नई खोज की सहायता से मनुष्य के शरीर में कैंसर कैसे फैलता है इसे आसानी से समझा जा सकेगा।
 इन्शान के शरीर के नय  अंग के बारे में लेख साइंटिफिक रिपोर्ट जर्नल में प्रकाशित किया गया है। 
रिसर्च में ये दावा  किया जा रहा है की ये अंग हर इन्शान के शरीर में मौजूद है। 
खोज  के बारे में :- 
 माउंड सिनाई बेथ इजरायल मेडिकल सेंटर मेडिक्स के डॉ  डेविड कार-लॉक   और डॉ पेट्रोस बेनियास इस बात की जांच कर रहे थे की ह्यूमन बॉडी  में कैंसर कैसे फैलता है ?
जांच के दौरान उनकी नज़र इस विशेष टिश्यूस पर पड़ी जिसे उन्होंने इंटरस्टीटियम का नाम दिया।  इंटरस्टीटियम को शरीर के बड़े अंगो में से एक माना  जा रहा है।  वैज्ञानिको का ऐसा दवा है की इसकी सहायता से कैंसर के लिए एक नय  टेस्ट को डेवलप करने में सहायता मिलेगी। 
इंटरस्टीटियम इंसान के शरीर के महत्वपूर्ण अंगो में से एक है। ये सिर्फ स्कीन में ही नहीं , बल्कि आंत, फेफड़े , रक्त नलिका और माँसपेशिओ के नीचे भी मिलते है। ये काफी लचीले होते है ,इनके अंदर प्रोटीन की मोती लेयर होती है। वैज्ञानिको के हिसाब से इंटरस्टीटियम शरीर के टीशूज के बचाव का काम करते है।  
आइये अब कुछ exam (परीक्षा उपयोगी ) प्रश्नो को देख लेते है 
  • मानव शरीर में इंशुलिन अग्नाशय द्वारा स्त्रावित होता है। 
  • लाल रक्त का निर्माण अस्थिमज्जा में होता है। 
  • मनुष्य एक मिनट में लगभग 16 -18  बार श्वास लेता है। 
  • मनुष्य के शरीर में सबसे छोटी  ग्रंथि पिट्यूटरी ग्रंथि है। 
  • मूत्र में स्त्रवण  को बढ़ाने वाली औसधी  डाइयुरेटिक कहलाता है 
  • केंद्रीय औसधी अनुसंधान लखनऊ में है। 
  • कॉर्निया मानव नेत्र का भाग है। 
  • कृतिम  हृदय का निर्माता राबर्ट जार्विक  है। 
  • रक्त के प्रवाह को रोकने के लिए फैरिक क्लोराइड का प्रयोग किया जाता है। 
  • सफ़ेद फास्फोरस को पानी के अंदर रखा जाता है। 
  • फ्लुओराइड दाँतो  को हानि पहुँचता है। 
  • वृद्धावस्ता का अध्ययन विज्ञान के जिरन्टोलॉजी के अंतर्गत किया जाता है 
  • हड्डी में सबसे अधिक मात्रा कैल्शियम फास्फेट की होती है 
  • गर्दन में कशेरुकी की संख्या 7  होती है। 
  • मूत्र का रंग पीला यूरोक्रोम के कारण होता है। 
  • हाइपोथैलमस  शरीर में भूख प्यास तथा ताप को नियंत्रित करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here