हिंदी भाषा ज्ञान ,भारत में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा

हिंदी भाषा ज्ञान

हिंदी भाषा ज्ञान संविधान के भाग 17 के अनुच्छेद 343 एक के अनुसार संघ की राजभाषा हिंदी और लिपि देवनागरी घोषित की गई है ! संघ की राजभाषा के रूप में हिंदी को 14 सितंबर 1949 को मान्यता प्रदान की गई ! भारत में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा हिंदी तथा दूसरी बांग्ला है !

भारत की तेलुगु भाषा को इटालियन ऑफ द ईस्ट कहा जाता है पंजाबी भाषा गुरुमुखी लिपि में लिखी जाती है ! संविधान के अष्टम अनुसूची में 22 भाषाओं को मान्यता प्राप्त है जबकि मूल में 14 थी ! राजभाषा आयोग का गठन 1955 में किया गया था ! जिसके अध्यक्ष बी जे खैर थे !
हिंदी दिवस 14 सितंबर तथा अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस 21 फरवरी को मनाया जाता है ! अंग्रेजी को नागालैंड एवं मेघालय में , तथा उर्दू को जम्मू-कश्मीर में राजभाषा का दर्जा प्राप्त है ! भारत के प्रथम राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त हैं जिन्हें आधुनिक युग का तुलसी कहा जाता है!
आधुनिक युग की मीरा के रूप में महादेवी वर्मा को ,तथा भारतीय आत्मा के रूप में माखनलाल चतुर्वेदी को जाना जाता है !संस्कृत व्याकरण के जनक पाणिनी है विश्व का आदि महाकाव्य रामायण को एवं आदि कवि वाल्मीकि को माना जाता है !
रामायण मूलतः संस्कृत भाषा में जबकि रामचरित मानस अवधी भाषा में लिखी गई थी संसार का सबसे बड़ा महाकाव्य महाभारत है !हिंदी का प्रथम बड़ा महाकाव्य पृथ्वीराज रासो है महाभारत के रचयिता महर्षि वेदव्यास है !
हिंदी भाषा indo-european से संबंधित है ! कालिदास भारत का शेक्सपियर कहलाते हैं सुमित्रानंदन पंत सुकुमार कवि कहलाते हैं ! विश्व की सबसे प्राचीन भाषा सुमेरियन है केंद्रीय अंग्रेजी विदेशी भाषा संस्थान हैदराबाद में है
जबकि इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी शिमला में अवस्थित है भारत में आधुनिक शिक्षा के जन्मदाता Charles grant (चार्ल्स ग्रांट )1792 है ! भारत का आइंस्टीन नागार्जुन को तथा कलम का सिपाही मुंशी प्रेमचंद को कहा जाता है, हिंदी में आशुलिपि के जन्मदाता राधे लाल द्विवेदी हैं !
प्रथम हिंदू विधि निर्माता मनु थे देश का प्रथम विश्वविद्यालय नालंदा विश्वविद्यालय है जिसकी स्थापना गुप्त शासक कुमारगुप्त प्रथम ने 450 ईसवी में किया था ! विक्रमशिला विश्वविद्यालय की स्थापना पाल शासक धर्मपाल ने नवी शताब्दी में की थी प्रथम हिंदी सम्मेलन भारत में 1975 ईस्वी में नागपुर में हुआ था विश्व के वेटिकन सिटी में विश्व की सभी भाषाएं मान्य है !

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *