srd news

श्री हनुमान जयंती पर विशेष | हनुमान जी के अवतरण सम्बंधित

श्री हनुमान जयंती पर विशेष

हमारे सनातन धर्म में अनेक उपास्य देवता है किंतु इन सभी उपास्य से, देवों में यदि किसी को ब्रह्मचर्य या मूर्तिमान स्वरूप कहा जा सकता है, तो वे है हमारे श्री हनुमान । स्वयं वानर होने पर भी दास्य भक्ति के प्रताप से भगवान श्री रामचंद्र के प्रिय दास होते हुए भी आप देवता बन गए । यह सिद्धि कोई दूसरा कपिपति नहीं प्राप्त कर सकता ।

   श्री हनुमान को साक्षात रुद्रावतार माना गया है । भगवान श्री शिव ने अपने परमाध्य श्री राम की अवतार लीला के दर्शन एवं उसमें सहायता प्रदान करने के लिए अपने अंश 11वे रुद्र से माता अंजना के गर्व से हनुमान रूप में अवतरित हुए ।
 गोस्वामी तुलसीदास जी ने श्री हनुमान के स्तवन मैं उनके रुद्रावतार की ओर संकेत किया है ।
कृपया अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *