Sunday, February 5, 2023

जीवित्पुत्रिका व्रत कथा|Jivitputrika Vrat Katha

Must Read

Jivitputrika Vrat Katha pujan vidhi :- आश्विन मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को यह व्रत किया जाता है। जीवित्पुत्रिका व्रत को करने से पुत्र शोक नहीं होता। इस व्रत का स्त्री समाज में बहुत ही महत्व है। Jivitputrika Vrat में सूर्य नारायण की पूजा की जाती हैं। स्त्रियां Jivitputrika Vrat व्रत को निर्जल रहकर करती हैं और चौबीस घंटे के उपवास के बाद व्रत का पारण करती हैं। विधान : स्वयं स्नान करके भगवान सूर्य नारायण की प्रतिमा को स्नान कराएं। धूप, दीप आदि से आरती करें एवं भोग लगावें। इस दिन बाजरा से मिश्रित पदार्थ भोग में लगाए जाते हैं।





सुप्रभात ज्ञान की बातें | Good Morning Motivation SMS in Hindi





जीवित्पुत्रिका व्रत कथा|Jivitputrika Vrat Katha





कथा : महाभारत युद्ध के पश्चात पांडवों की अनुपस्थिति में कृतवर्मा और कृपाचार्य को साथ लेकर अश्वथामा ने पांडवों के शिविर में प्रवेश किया। अश्वथामा ने द्रौपदी के पुत्रों को पांडव समझकर उनके सिर काट दिए। दूसरे दिन अर्जुन कृष्ण भगवान को साथ लेकर अश्वथामा की खोज में निकल पड़ा और उसे बंदी बना लिया। धर्मराज युधिष्ठिर और श्री कृष्ण के परामर्श पर उसके सिर की मणि लेकर तथा केश मूंडकर उसे बंधन से मुक्त कर दिया।





अश्वथामा ने अपमान का बदला लेने के लिए अमोघ अस्त्र का प्रयोग पांडवों के वंशधर उत्तरा के गर्भ पर कर दिया। पांडव उस अस्त्र का प्रतिकार नहीं जानते थे उन्होंने श्री कृष्ण से उत्तरा के गर्भ की रक्षा की प्रार्थना की। भगवान श्री कृष्ण ने सूक्ष्म रूप से उत्तरा के गर्भ में प्रवेश करके उसकी रक्षा की। किंतु उत्तरा के गर्भ से उत्पन्न हुआ वालक म्रतः प्रायः था। भगवान ने उसे प्राण दान दिया। वही पुत्र पांडव वंश का भावी कर्णधार परीक्षित हुआ। परीक्षित को इस प्रकार जीवनदान मिलने के कारण इस व्रत का नाम ‘जीवित्पुत्रिका पड़ा। व्रती स्त्रियों द्वारा उड़दों का निगलना श्री कृष्ण का सूक्ष्म रूप में उदर प्रवेश करना माना जाता है।





यह भी देखे :- श्री महालक्ष्मी सम्पूर्ण व्रत कथा | mahalaxmi sampurn vrat katha





अधिक जानकारी के लिए हमें टेलीग्राम और ट्विटर पर फोलो करे





जीवित्पुत्रिका व्रत कथा सम्पूर्ण |Jivitputrika Vrat Katha sampurn


- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
Latest News

ऐरा पशुओं की समस्याओं को लेकर कमिश्नर कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन

श्री राम दूत, रीवा/मध्य प्रदेश: धरने में पधारे मध्य प्रदेश कांग्रेस (जनरल सेक्रेटरी) सीधी जिले के प्रभारी एड. ब्रजभूषण...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -